Advertisement

Kati Bihu Festival 2021 in Hindi | काति बिहू उत्‍सव कब है और क्‍यो मनाया जाता है यहा से जाने

Advertisement

Kati Bihu Festival 2021 दोस्‍तो आप सभी जानते है हमारा भारत देश त्‍यौहारो का देश कहा गया है। जहा हर दिन कोई त्‍यौहार, व्रत आदि जरूर होता है। जिनमे से ऐसे बहुत से त्‍यौहार है जो की पूरे भारतवर्ष में बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाता है। जैसे- होली, दीपावली, दशहरा, नवरात्रि, रक्षाबंधन आदि। किन्‍तु भारत के उत्तर पूर्वी राज्‍यों में कुछ खास त्‍यौहार मनाऐ जाते है जो वहा के लोगो के लिए बहुत ही खास होते है।

जिनमे से एक है काती बिहू पर्व जो की प्रतिवर्ष अक्‍टूबर के महीने में मनाया जाता है। इस बार यह उत्‍सव 18 अक्‍टूबर 2021 सोमवार के दिन पड़ रहा है। जो की खासतौर पर भारत के पूर्वी राज्‍यों में बड़े ही हर्षो उल्‍लाहस के साथ मनाया जाता है। ऐसे में अगर आप काती बिहू त्‍यौहार से जुड़ी समस्‍त जानकारी पाना चाहते है। तो पोस्‍ट के अन्‍त तक बने रहे।

Advertisement

Kati Bihu Festival 2021 (काती बिहू उत्‍सव)

Kati Bihu Festival 2021
Kati Bihu Festival 2021

वैसे तो वर्ष में तीन बार बिहू का पर्व Bihu 2021 मनाया जाता है। जो खासतौर पर किसानो के द्वारा मनाया जाता है। एक तो ”बोहाग पर्व” जो वैसाख में मनाया जाता है। तथा दूसरा है ‘माघ बिहू, माघ कें महीने(मकर संक्रांति पर) में तथा तीसरा ”काटी बिहू’ जो की अक्‍टूबर अर्थात कार्तिक के महिने में मनाया जाता है। इन सभी त्‍यौहारो में से सबसे महत्‍वपूर्ण ”बोहाग बिहू” है जो प्रतिवर्ष अप्रैल के महीने में मनाया जाता है। इस त्‍यौहार को कई जगहो पर ”रोंगाली बिहू व हतबिहू भी कहा जाता है।

Kati Bihu Festival (काती बिहू उत्‍सव कैसे मनाते है)

काती बिहू त्‍यौहार को खासतौर पर भारत के असम राज्‍य में बडे हर्षो उल्‍लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन स्‍त्री व पुरूष रंगीन व पारंपरिक सुन्‍दर कपड़े पहनते है। तथा एक-दूसरे के हाथ पकड़कर एक गोला बनाकर चारो तरफ घूते है। साथ में कुछ लोग ढोल व पीपा आदि बजाते है औरे वे सभी गोल-गोल घूमते हुए नृत्‍य करते है।

दरसल में असम राज्‍य के लोग आषाढ़ व श्रावन महीने में धाम की खेती बोते है। जो की आश्विन महीने अन्तिम दिनों में पककर तैयार होती है। जिसे काटने के बाद उनके घर में मानो स्‍वयं लक्ष्‍मी जी आ गई हो क्‍योकि वो बडे ही उत्‍सव पूर्वक उस धान को अपने घर पर लाते है। और कार्तिक की संक्रांति को शुभ मंगलकामना के लिए तुलसी के पेड के नीचे दीपक जलाते है। इसी परंपरा का काती बिहू कहा जाता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे काती बिहू को कृषि का त्‍यौहार व कंगाली बिहू (गरीबों का त्‍यौहार) भी कहा जाता है। ”कोंगाल शब्‍द का अर्थ गरीब होता है। इसके अलावा इस दिन साकी नामक दीपक को खेतों के किनारे बांस के खंभो के नीचे जलाया जाता है। इसके अलावा वहा के किसान कीटो से अपने खेतो की रक्षा करने के लिए मंत्रों का जाप करते है। और एक अच्‍छी फसल की कामना करते है।

दोस्‍तो आज के इस लेख में हमने आपको काती बिहू उत्‍सव Kati Bihu Festival 2021 के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि हमारे द्वारा प्रदान की गई जानकारी पसंद आई हो तो लाईक करे व अपने मिलने वालो के पास शेयर करे। और यदि आपके मन में किसी प्रकार को प्रश्‍न है तो कमंट करके जरूर पूछे। धन्‍यवाद

प्रश्‍न:- काति बिहू पर्व किस राज्‍य का प्रसिद्ध त्‍यौहार है।

Advertisement

उत्तर:- असम

यह भी पढ़े-

You may subscribe our second Telegram Channel & Youtube Channel for upcoming posts related to Indian Festivals & Vrat Kathas.

Leave a Comment