Ram Mandir Ayodhya Latest News Today: राम मंदिर से जुड़ी खबरें पढिए

Ram Mandir Ayodhya Latest News Today:- वेदों, पुराणों, शास्‍त्रों व रामायण जैसे ऐतिहासिक ग्रंथो में सनातन धर्म का सबसे बड़ा व पवित्र शहर अयोध्‍या (उत्तर प्रदेश) को बताया हुआ है। ज‍हा कई हजार वर्षो पहले यानी त्रेतायुग में स्‍वयं विष्‍णु भगवान ने अपना सातंवा अवतार अयोध्‍या के राजा के ज्‍येष्‍ठ पुत्र के रूप में लिया था। आज उनको भारत के अलावा भी कई अन्‍य देशें भी जानते है और अपनी आस्‍‍था रखते है। जी हा भगवान श्री राम, और आज इनका भव्‍य मंदिर बनकर तैयार हो गया है देश-विदेशों से लोग राम मंदिर के दर्शन करना चाहते है वो ऑनलइन बुकिंग या फिर ऑ‍फलाइन बुकिंग करके भी दर्शन/आरती में शामिल हाे सकता है।

राम मंदिर अयोध्‍या हिंस्‍ट्री इन हिंदी Ram Mandir Ayodhya History in Hindi

देश में सबसे लंबे समय से चलने वाला केस अयोध्‍या का राम जन्‍म भूमि का है जिसका इतिहास बहुत पुराना है। साल 1528 से लेकर साल 2023 तक श्रीराम जन्‍म भूमि के पूरी 495 वर्षो के इतिहास में साल 2019 में एक नया मोड़ आया है। जिसका फैसला बेहद खास निकला अब अयोध्‍या में राम मंदिर बनेगा अब जन्‍मभूमि पर रामलला का भव्‍य मंदिर की स्‍थापना होगी। यह फैसला देश के 5 जजों की संवैधानिक बेंच से अब तक का ऐतिहासिक फैसला हुआ है

Ram Mandir Ayodhya Latest News Today
  • 1528:- मुगल बादशाह बाबर के सिपहसालार मीर बाकी ने विवादित जगह पर मस्जिद का निर्माण कराया, और इस स्‍थान पर पहले से हिंदु समाज के लोगो ने दावा किया की यहा पर पहले भगवान श्री राम की जन्‍म भूमि है। जहा पर एक प्राचीन मंदिर भी था, और कहा की मस्जिद के तीन गुंबदों में से एक गुंबद के नीचे भगवान श्री राम का जन्‍मस्‍थान बताया है।
  • 1853-1949:- जब राम जन्‍म भूमि पर मस्जिद का निर्माण हुआ, तब उस दौरान आस-पास के लोगों में कई जगहों पर पहली बार 1853 में दंगे फसाद हुआ। जिसके बाद 1859 में अंग्रेजी प्रशासन ने विवादित स्‍थान के पास बाड़ लगा दी और मुसलमानों के ढांचे के अंदर वहीं हिंदुओं को बाहर के चबूतरे के पास पूजा करने की इजाजत दे दी थी।
  • 1949:- अयोध्‍या श्रीराम जन्‍म भूमि का असली विवाद 23 सितंबर 1949 में हुआ जब मस्जिद में भगवान राम की मूर्तियां मिली। इसे लेकर हिंदू समुदाय के लोगा का कहना है की यहां साक्षात भगवान राम प्रकट हुए है। वहीं मुस्लिम समुदाय के लोगों ने आरोप लगाया कि, किसी ने चुपके से यहां मूर्तिया रखी ऐसे में यूपी सरकार ने तुरंत मूर्तियों को वहां से हटाने के आदेश दिया पर जिला मैजिस्‍ट्रेट (डीएम) केके नायर ने धार्मिक भावना को ठेस पहुंचने और दंगो भड़कने के डर से इस आदेश में असमर्थता जताई। और इस तरह से सरकार के द्वारा इसे विवादित ढांचा मानकर इस पर ताला लगा दिया गया था।
  • 1950:- फैजाबाद के सिविल कोर्ट में दो अर्जी दाखिल हुई जिसमें एक तो विवादित भूमि पर रामलला कीपूजा की इजाजत और दूसरी मूर्ति रखे जाने की इजाजत पर थी।
  • 1961:- यूपी सुन्‍नी पक्ष बोर्ड ने एक अर्जी दाखिल की और विवादित भूमि पर पजेशन और मूर्तियों को हटाने की इजाजत मांगी थी।
  • 1984:- 01 फरवरी 1986 में यूपी पांडे की याचिका पर फैजाबाद के जिला जज केएम पांडे ने हिंदुओं को पूजा करने की इजाजत दे दी और ढांचे पर लगे ताले को हटाने का आदेश जारी कर दिया था।
  • 1992:- यह दंगा एतिहासिक रहा 06 दिसंबर 1992 को वीएचपी और शिवसेना समेत कई हिंदू संगठन के लाखो कार्यकर्ताओं ने विवादित ढांचे को गिरा दिया। इससे देशभर में सांप्रदायिक दंगे हुए और हजारों की तादाद में लोग मारे गए।
  • 2002:- गोधरा ट्रेन जोकि हिंदू कार्यकर्ताओं को लेकर जा रही थी, असमें आग लगा दी गई और करीब 58 लोग मारे गए। इसे लेकर गुजरात में भी इंगे की आग भड़क गई और दो हजार से अधिक लोग इस दंगे में मारे गए।
  • 2010:- इलाहाबाद हाईकोर्ट ने फैसले पर विवादित भूमि को सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड, रामलला विराजमान और निर्मोही अखाड़ा के बीच तीन बराबर हिस्‍सों में बांटने का आदेश दिया था।
  • 2011:- अयोध्‍या विवाद पर इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगादी थी।
  • 2017:- सुप्रीम कोर्ट ने आउट ऑफ कोर्ट सेटलमेंटका आह्लन किया और भाजपा के कई नेताओं पर आपराधिक साजिश आरोप बहाल किया गया।
  • 2019:- 08 मार्च 2019 को सुप्रीम कोर्ट ने मामले को मध्‍यस्‍थता के लिए भेजा और 8 सप्‍ताह में कार्यवाही को खत्‍म करने के आदेश दिया। उसके बाद 1 अगस्‍त को मध्‍यस्‍थता पैनल ने रिपोर्ट पेश की और 2 अगस्‍त को सुप्रीम कोर्ट मध्‍यस्‍थता पैनल मामले में समाधान निकालने कामयाब नहीं रहे। इस बीच सुप्रीम कोर्ट में अयोध्‍या मामले को लेकर प्रतिदिन सुनाई होने लगी और 16 अगस्‍त 2019 को सुनवाई पूरी होने के बाद फैसला सुरक्षित रखा गया है।
  • 2019:- 09 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के 5 जजों की बेंच ने श्रीराम जन्‍म भूमि के पक्ष में फैसला सुनाया वहीं 2.77 एकड़ विवादित भूमि हिंदू पक्ष को मिली और मस्जिद के लिए अलग से 5 एकड़ जमीन मुस्लिम पक्ष को मुहैया कराने का आदेश दिया गया।
  • 2020:- 25 मार्च 2020 को पूरे 28 सालो के बाद रामलला टेंट से निकलकर फाइबर मंदिर में शिफ्ट हुए और इसके बाद 5 अगस्‍त को भूमि पूजन किया गया था।
  • 2023:- और अब फाइनल राम मंदिर पूरी तरह बनकर तैयार हो गया है 22 जनवरी 2023 को अयोध्‍या में श्री राम मंदिर का उद्घाटन है।

अयोध्‍या राम मंदिर महत्‍वपूर्ण बिंदु Ram Mandir Important Facts in Hindi

उत्तर प्रदेश राज्‍य के अयोध्‍या नामक शहर में राम मंदिर है जो भारतीय इतिहास और सांस्‍कृतिक परंपरा में महत्‍वपूर्ण स्‍थान रखता है यहा पर मैं अयोध्‍या राम मंदिर के बारें में कुछ महत्‍वपूर्ण बातें बता रहा हूँ जो की कुछ इस प्रकार से निम्‍नलिखित है:-

  • 1.इतिहास:- अयोध्‍या एक प्राचीन नगरी है जिसका उल्‍लेख वेदों, पुराणों, रामायण, महाभारत आदि ग्रंथो में मिला है जो भारतीय इतिहास में महत्‍वपूर्ण स्‍थान रखता है। यह नगरी रामायण के काल में भगवान श्री राम की नगरी (राजधानी) था, यहा पर स्‍वयं भगवान राम ने अपना शासन कई हजार वर्षो तक किया था।
  • 2. राम मंदिर:- अयोध्‍या में स्थित श्री राम जन्‍मभूमि पर हिंदू धर्म के अनुयायियों के लिए एक बहुत महत्‍वपूर्ण स्‍थान है जहा पर भगवान श्री रामजी का जन्‍म हुआ था और अब यह मंदिर पूरी तरह बनकर तैयार हो गया है। विश्‍य का सबसे बड़ा मंदिर होगा यह भगवन राम का जो आज अयोध्‍या नगरी में स्‍थापित है।
  • अयोध्‍या विवाद:- पहले यहा पर बाबरी मस्जिद का निर्माण हुआ था उसके बाद अयोध्‍या में एक बहुत बड़ा विवाद उत्‍पन्‍न हुआ था। जिसमें हिंदू और मुस्लिम समुदायों के बीच का विवाद बना, इस विवाद में हिंदू कहते है की यह भूमि श्री राम की जन्‍म भूमि है। और मुस्लिम समुदाय कहता है की यह बाबारी मस्जिद की भूमि है यहा पर केवल मस्जिद का निर्माण होगा और कई सालों तक कोर्ट में केश चला। कोर्ट का अंतिम फैसला की यहा पर राम मंदिर होगा।
  • अदालती निर्णय:- साल 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्‍या मामले में ऐतिहासिक निर्णय दिया और यह आदान-प्रदान करते हुए राम मंदिर के निर्माण को स्‍वीकृत किया है।
  • राम मंदिर का निर्माण:- इस निर्णय के बाद साल 2020 में राम मंदिर का निर्माण शुरू हुआ है यह भगवान राम को समर्पित है और एक श्रद्धालु भव्‍य मंदिर की भूमि का निर्माण हो रहा है।

राम मंदिर अयोध्‍या फोटो/ अयोध्‍या राम मंदिर फोटो/Ram Mandir Image

Ram Mandir Ayodhya Latest News Today

अयोध्‍या राम मंदिर आरती बुकिंग कैसे करें Ram Mandir Aarti Pass Booking Online Apply

3 5
  • वेबसाइट के मुख्‍य पेज पर आपको Click here to Reserve your passes का ऑप्‍शन दिखाई देगा उस पर क्ल्कि करना है।
  • उसके बाद एक नया पेज इस प्रकार का खुलकर आएगा। ।
1 1
  • पेज में दी हुई जानकारी (जैसे तिथि, आरती का समय, श्रद्धालु की संख्‍या आदि) भरने के बाद आपको नीचे Proceed वाले ऑप्‍शन पर क्ल्कि करना है।
  • उसके बाद एक नया पेज खुलेगा यहा पर आपको अपने मोबाइल नंबर टाइप करना है।
  • और ओटीपी पर क्ल्कि करके ओटपी भरना है
2 2
  • इस प्रकार से आप लॉगिन करके अपनी एड्रेस की डिटेल भर सकते है अगले फॉर्म में जो की नीचे दिया हुआ है।
4 4
  • आपको यहा पर अपना पूरा पता जैसे देश, राज्‍य का नाम, जिला का नाम, शहर/गांव का नाम, पिन कोड, मोबाइल नंबर, मेल आईडी आदि भरना है।
  • आप चाहे तो यहा पर आपकी तस्‍वीर/फोटो भी अपलोड कर सकते है।
  • उसके बाद नीचे Proceed वाले बटन पर क्ल्कि करना है।
  • इस प्रकार आप सभी श्रद्धालु राम मंदिर की आरती के लिए अपना पास बुकिंग करवा सकते है

महत्‍वपूर्ण लिंक

होम पेज यहा पर क्ल्कि करें
ऑफिशियल वेबसाइट यहा पर क्ल्कि करें

प्रश्‍न व उत्तर

अयोध्‍या राम मंदिर कहा पर है

राम मन्दिर अयोध्‍या में राम जन्‍मभूमि के स्‍थान पर बनाया जा रहा एक हिन्‍दू मन्दिर है। जो उत्तर प्रदेश राज्‍य के अयोध्‍या नामक शहर में बनाया गया है

अयोध्‍या राम मंदिर किसने बनवाया है।

अयोध्‍या राम मंदिर का निर्माण Chandrakant Sompura जी की देखरेख में हुआ है।

अयोध्‍या राम मंदिर कितना किलोमीटर दूर है

अयोध्‍या में निर्माण हुआ राम मंदिर अयोध्‍या रेलवे स्‍टेशन से मात्र 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थिति है।

राम मंदिर अयोध्‍या का उद्घाटन कब है।

राम मंदिर का उद्घाटन 22 जनवरी 2024 को है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top