Surya Grahan 2022 Date and Time~सूर्य ग्रहण कब है जाने तिथि व मुहूर्त समय साल का आखिरी ग्रहण

Advertisement

Surya Grahan 2022:- हिंदू पंचांग के अनुसार वैशाख मास की कृष्‍ण पक्ष की अमावस्‍या वाले दिन इस साला का पहला सूर्य ग्रहण पड़ने जा रहा है। जो की 30 अप्रैल 2022 शनिवार के दिन पूर्ण आंशिक रूप से पड़ेगा। इस कारण इसका जो सूतक काल है वह भारत में नहीं लग रहा है वहीं ज्‍योतिषों के अनुसार अमावस्‍या वाले दिन ग्रहण लगने से 3 राशियों पर इसका बहुत कुप्रभाव पड़ेगा। जिनसे आपको सावधान रहना है। यदि आप इस वर्ष पड़ने वाले सूर्य ग्रहण के बारें में विस्‍तार से जानना चाहते है तो लेख के अतं तक बने रहें।

image 2 1

Solar Eclipse 2022 Date (सूर्य ग्रहण 2022)

ज्‍योषिसो के अनुसार सूर्य ग्रहण वैशाख मास की कृष्‍ण पक्ष की जो अमावस्‍या है उसकी दिन है और पंचाग के अनुसार30 अप्रैल 2022 शनिवार के दिन पड़ेगा। यह ग्रहण साल का अंतिम सूर्य ग्रहण है तथा इससे पहले जो सूर्य ग्रहण लाग था वह 4 दिसमंबर 2021 शनिवार के दिन ही पड़ा था। अर्थात ज्‍येष्‍ठ माह की कृष्‍णपक्ष की अमावस्‍या को पड़ा था। इस समय पड़ने वाला सूर्य ग्रहण आंशिक है जिस कारण यह इस बार भी भारत देश में दिखाई देगा। यह केवल दक्षिण अमेरिका का जो दक्षिण व पश्चिमी भाग है, अंटार्कटिका और प्रशांत महासागर पर दिखाई देगा।

Advertisement

Solar Eclipse 2022 in Hindi (सूर्य ग्रहण का समय)

  • सूर्य ग्रहण पड़ने की तिथि:- 30 अप्रैल 2022 शनिवार के दिन
  • सूर्य ग्रहण प्रारंभ:- मध्‍य रात्रि को 12:15 मिनट पर
  • सूर्य ग्रहण समाप्‍त:- 01 मई 2022 रविवार को प्रात: 04:07 मिनट पर
23

सूर्य ग्रहण कहा-कहा दिखाई देगा

इस बार जो सूर्य ग्रहण होने जा रहा है वह केवल दक्षिण अमेरिका का जो दक्षिण व पश्चिमी भाग है वहा पर और अंटार्कटिका प्रदेश में और प्रशांत महासागर है वहा पर दिखाई देगा। इसके अलावा कई भी दिखाई नहीं देगा क्‍योंकि इस बार जो सूर्य ग्रहण पड़ने जा रहा है आंशिक रूप से पड़ेगा।

सूर्य ग्रहण कैसे पड़ता है

वैज्ञानिको के अनुसार जब सूर्य व पृथ्‍वी के बीच में चन्‍द्रमा आ जाता है तो इसी स्थिती को सूर्य ग्रहण कहते है । क्‍योकि चंद्रमा के बीम में आ जाने के कारण सूर्य का प्रकाश पृथ्‍वी पर नही पहुच पाता है जिसे ही सूर्य ग्रहण कहा जाता है। आपको बता दे सूर्य आंशिक रूप से ढका हुआ दिखाई देने के कारण वैज्ञानिको भाषा में इसे ‘खण्‍डग्रास ग्रहण कहा जाता है।

image 1 1

सूर्य ग्रहण का किन-किन राशियो पर रहेगा असर जाने

आपकी जानकारी के अनुसार बता दे इस वर्ष दिसबंर में पड़ रहे सूर्य ग्रहण 03 राशियो पर अशुभ अर्थात कुप्रभाव रहेगा। तो हमारी आप सभी से विनती है कृपा करके ऐ तीन राशि वाले व्‍यक्ति ग्रहण के समय घर से बाहर नही निकले। क्‍योकि ज्‍योषितो के अनुसार अशुभ माना जा रहा है। जो की नीचे दी गई है।

मेष:- पंडितो के अनुसार इस राशि वाले व्‍यक्ति यदि ग्रहण पड़ने के समय बाहर आ जाऐगे तो ग्रहण का असर उनकी सेहत पर पड़ सकता है। अर्थात वो ग्रहण की चपेट में आकर बीमार पड़ जाएगे या फिर किसी दुर्घटना के शिकार हो जाएगे। या फिर आपका शत्रु हावी हो सकता है क्‍योंकि इस बार इस राशि पर ग्रहण का ज्‍यादा प्रभाव बन रहा है।

वृ्श्र्च्कि:- सूर्य ग्रहण का असर इस राशी वाले लोगो पर देखने को मिलेगा इसी कारण ग्रहण के समय घर पर ही रहे।क्‍योंकि आपको मान हानि का शिकार भी बन सकते है जिस कारण आपको सोच समझकर बोलना चाहिए। और सभी प्रकार के विवादों से सावधाव व दूर रहे।

कर्क:- ग्रहण वाले दिन इस राशि के लोगो का अशुभ फल मिल सकता है। हो सके तो किसी के साथ उलझे नही, तथा परिवार के सदस्‍यो के साथ बातचीत करने समय सावधानीया बरतें। वहीं इस राशि का जो स्‍वामी होता है वह चंद्रमा होता है और ग्रहण के समय चंद्रमा मेष में राहु का प्रभाव बना रहेगा।

Advertisement
Advertisement

Surya Grahan से जुडी कुछ महत्‍पूर्ण बाते

  • पंचाग के तहत सूर्य ग्रहण 30 अप्रैल 2022 शनिवार के दिन लग रहा है। जो हिन्‍दी पंचाग के अनुसार वैशाख मास की जो कृष्‍ण पक्ष की अमावस्‍या के दिन पड़ रहा है।
  • इस वर्ष शनिवार को सूर्य ग्रहण होने के कारण शनिदेव की पूजा का विशेष महत्‍व है तो आप सभी शनिदेव भगवन की पूजा करे।
  • आपकी जानकारी के लिए बता दे पिछले वर्ष जो सूर्य ग्रहण हुआ था वह 4 दिसम्‍बर 2021 शनिवार के दिन लगा था जो वर्ष 2021 का दूसरा ग्रहण था।

सूर्य ग्रहण वाले दिन क्‍या करना चाहिए

जब सूर्य ग्रहण पड़े तो आपको सूर्य भगवान की अराधना करनी है तथा मन ही मन भगवान शिव के मंत्रो का जाप करे। जब ग्रहण समाप्‍त हो जाऐ तो अपने घर में गंगाजल को छिड़के और गरीब को यथा शक्ति दान दे। जिसके ग्रहण का बुरा प्रभाव आपके जीवन पर नही होगा।

सूर्य ग्रहण का सूतक काल क्‍या है जानिए

इस वर्ष भी सूर्य ग्रहण हमारे देश भारत में बिल्‍कुल भी दिखाई नहीं देगा क्‍योंकि इस बार आंशिक रूप से ग्रहण पड़ेगा। जिस कारण भारत के समय के अनुसार मध्‍य रात्रि को 12 बजकर 15 मिनट पर ग्रहण की शुरूआत होगी और प्रात: 4 बजकर 7 मिनट पर समाप्‍त हो जाएगा। उस समय हमारे देश में रात्रि होती है दिन नहीं होता और सूर्य ग्रहण को दिन में होता है। इस बार जो सूतक काल है वह सूर्य ग्रहण के 12 घंटे पहले लग जाएगा। मान्‍यताओं के अनुसार इस समय के बीच में किसी प्रकार का शुभ कार्य नहीं करना चाहिए।

236

भारत में यह सूर्य ग्रहण नहीं दिखाई देगा. क्योंकि यह सूर्य ग्रहण भारत के समयानुसार मध्यरात्रि के बाद 12 बजकर 15 मिनट से शुरू होकर सुबह 4 बजकर 7 मिनट तक रहेगा. ऐसे में इस सूर्यग्रहण का सूतक काल मान्य नहीं होगा. ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार, सूतक काल तो सूर्य ग्रहण शुरू होने से 12 घंटे पहले से लग जाता है. मान्यता है कि सूतक काल के दौरान कोई भी शुभ या मांगलिक कार्य करने की मनाही होती है.

दोस्‍तो आज के इस लेख में हमने आपको सूर्य ग्रहण Surya Grahan 2022 के बारे में बताया है। यदि ऊपर लेख में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो लाईक करे व अपने दोस्‍तो के पास शेयर करे। और यदि आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्‍न है तो कमंट करके जरूर पूछे। धन्‍यवाद

यह भी पढ़े-

You may also like our Facebook Page & join our Telegram Channel for upcoming more updates realted to Sarkari Jobs, Tech & Tips, Money Making Tips & Biographies.

Leave a Comment

Your email address will not be published.