Advertisement

[5 सितम्‍बर 2021] Teachers Day 2021 in Hindi: शिक्षक दिवस क्‍यो मनाया जाता है? | Teachers Day Messages

Advertisement

[5 सितम्‍बर 2021] Teachers Day 2021 in Hindi: शिक्षक दिवस क्‍यो मनाया जाता है? | Teachers Day Kyo Manaya Jata Hai, टीचर्स डे 2021

हमारे देश में शुरू से ये परम्‍परा रही है कि हम अपने से बड़ो का सम्‍मान करे व उनका आदर करे। जब बात शिक्षक की जाए तो फिर वो हमारे लिए बहुत ही ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण हो जाता है क्‍योकि हमारे माता-पिता के बाद शिक्षक ही वो दूसरा इसांन होता है जो हमे जीवन की सही राह पर चलने की शिक्षा देता है ओर हमे आगे बढ़ने के लिए प्रोत्‍साहित करता है। इस तरह से शिक्षको को सम्‍मान देने के लिए हमारे देश में शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

Advertisement

भारत में शिक्षक दिवस हर साल 5 सितम्‍बर को मनाया जाता है इस दिन छात्र अपने शिक्षको को सम्‍मान देते है व उन्‍हे शुभकामनाये देते है। यह दिन इसलिए भी खास होता है क्‍योकि इस दिन हमारे देश के पूर्व राष्‍ट्रपति डॉ सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन का जन्‍म दिवस होता है जो कि एक महान शिक्षक, विद्धवान एवं विचारक थे। दोस्‍तों, आज के लेख के जरिए हम आपको शिक्षक दिवस (Teachers Day 2021) की तमाम जानकारीया बताने जा रहे है इसलिए आप पोस्‍ट को पूरा अवश्‍व पढ़े।

शिक्षक दिवस क्‍या है (What is Teachers Day)

[5 सितम्‍बर 2021] Teachers Day 2021 in Hindi: शिक्षक दिवस क्‍यो मनाया जाता है? | Teachers Day Messages, Wishes & Quotes
Teachers Day 2021 | टीचर्स डे क्‍यो मनाया जाता है।

जैसा कि आप सभी जानते है कि हर व्‍यक्ति को अपने जीवन में आगे बढ़ने के लिए एक मार्गदर्शन चाहिए होता है ठीक उसी तरह एक छात्र के जीवन में माता-पिता के अलावा एक ऐसे शिक्षक अथवा गुरू की आवश्‍यक्‍ता होती है जो विद्यार्थी को शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ उसे सही मार्ग पर जाने की प्रेरणा दे। शिक्षक के बिना छात्र के उज्‍जवल भविष्‍य की कामना करना मुश्किल है। छात्र के भविष्‍य को उज्‍जवल बनाने में शिक्षको की भूमिका बहुत महत्‍वपूर्ण होती है। आपके जीवन में भी कोई ना कोई शिक्षक महत्‍वपूर्ण जरूर हुआ होगा। ऐसे में हमारे जीवन को उचित दिशा व आकार प्रदान करने वाले महान गुरू (हमारे शिक्षक) को सम्‍मान प्रदान करने के लिए हर साल शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

शिक्षक दिवस मनाना क्‍यो जरूरी है?

हर व्‍यक्ति का पहला गुरू उसके माता-पिता होते है जो उसे जन्‍म देकर उसका लालन-पालन करते है। उसके बाद दुसरा गुरू शिक्षक होता है जो कि उसे शिक्षा प्रदान करता है एवं जीवन के हर विषम परिस्थितियों का सामना करना सिखाता है। गुरू एवं शिष्‍य का सबंध आज से हजारो सालो से पुराना रहा है आपने गुरू-शिष्‍य से जुड़ी कई कहानिया भी सुनी होगी। जिसके अनुसार प्राचीन काल में भी राजा-महाराजा की सतांने शिक्षा ग्रहण करने के लिए आश्रमों मे जाते थे। गुरू एवं शिष्‍य का सबसे बड़ा उदाहरण हमे एकलव्‍य की कहानी से मिलता है जिन्‍होने गुरू दक्षिणा में अपना अगूंठा तक काटकर गुरू को न्‍यौछावर कर दिया था जो कि एक शिष्‍य का अपने गुरू के प्रति सम्‍मान को दिखाता है। वर्तमान में समय में काफी बदलाव आ गया है जिसके लिए गुरू अथवा शिक्षक को सम्‍मान प्रदान करने के लिए शिक्षक दिवस मनाना बहुत ही जरूरी हो जाता है। भारत में साल 1962 से शिक्षक दिवस (Teachers Day) मनाने की परम्‍परा को शुरू किया गया था जो कि तब से अब तक लगातार मनाया जा रहा है।

Advertisement

शिक्षक दिवस मनाने के पीछे इतिहास | Teachers Day 2021

हमारे देश के प्रथम उपराष्‍ट्रपति डॉ. सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन के जन्‍म दिवस पर 5 सितम्‍बर को शिक्षक दिवस (Teachers Day) मनाया जाता है। डॉ. राधाकृष्‍णन एक महान शिक्षक थे इनका मानना था कि एक छात्र को एक अच्‍छा नागरिक बनाने के लिए शिक्षक का होना बहुत जरूरी है। उनके अनुसार विद्यार्थियों के दिमाग में विभिनन तथ्‍यों को डालने से अच्‍छा है कि छात्र के बौद्विक विकास पर बल दिया जाए। जिससे विद्यार्थी इस लायक बने कि वो अपने सामने आने वाली हर बाधाओ को सामना कर सके। बाद में डॉ. सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन भारत के दूसरे राष्‍ट्रपति बने। शिक्षा के प्रति इनके योगदान को देखते हुए इनके जन्‍म दिवस 5 सितम्‍बर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया। तब से (1962) से हार साल 5 सितम्‍बर को इनके जन्‍म दिवस पर शिक्षक दिवस अर्थात् टीचर्स डे मनाया जाता है।

शिक्षक दिवस कैसे मनाया जाता है? (How to Celebrate Teachers Day in Hindi)

5 सितम्‍बर यानि शिक्षक दिवस पर स्‍कूलो, कॉलेजो, काॅचिगं सस्‍थांनो व अन्‍य शिक्षण सस्‍ंथानो में विभिन्‍न सास्‍ंकृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इस दिन छात्र अपने शिक्षकों को तरह-तरह के उपहार भेंट में देकर उनका आभार प्रकट करते है। वही ग्रिटिंग कार्ड इत्‍यादि के माध्‍यम से अपने शिक्षकों को Teachers Day की शुभकामनाए भी प्रदान करते है। परन्‍तु जिस तरह से पिछले डेढ़ सालों से कोरोना की स्थिति चल रही है उसे देखते हुए सोशन मीडिया का उपयोग भी बढ़ गया है। सोशन मीडिया इत्‍यादि के माध्‍यम से भी छात्र अपने शिक्षकों को टीचर डे मैसेज, क्‍योट आदि के जरिए बधाई देते है। इस तरह हमारे देश में टीचर्स डे को अन्‍य त्‍यौहारों की भांति बड़ी धूमधाम से बनाया जाता है।

टीचर्स डे व्‍हाट्सअप मैसेज (Teachers Day Whats app Messages)

गुरू का स्‍थान सबसे ऊंचा,
गुरू बिन ना कोई दूजा
गुरू करें सबकी नाव पार,
गुरू की महिमा है सबसे अपार,

Advertisement

जीवन में जो राह दिखाए,
सही तरह चलना सिखाए
माता-पिता से पहले आता,
जीवन में हमेशा आदर पाता,
मेरा शिक्षक जो कहलाता!

खीचंता था आड़ी-टेढ़ी लकीरे,
आपने मुझे कलम चलाना सिखाखा।
ज्ञान का दीपक जला मन में,
मेरे अज्ञान के तमस को मिटाया।

जो बनाए हमें इन्‍सान,
ओर दे सही-गलत की पहचान।
देश के उन निर्माताओं को,
हम करते है शत-शत प्रणाम।

ज्ञान देने वाले गुरू का बंदन है
उनके चरणो की धूल भी चन्‍दन है।

You may also like our Facebook Page & join our Telegram Channel for upcoming more updates realted to Sarkari Jobs, Tech & Tips, Money Making Tips & Biographies.

2 thoughts on “[5 सितम्‍बर 2021] Teachers Day 2021 in Hindi: शिक्षक दिवस क्‍यो मनाया जाता है? | Teachers Day Messages”

Leave a Comment