Vijay Diwas 2021 in Hindi | विजय दिवस के बारे में विस्‍तार से पढ़े

Advertisement

विजय दिवस 2021:- दोस्‍तो सन 1971 में भारत व पाकिस्‍तान में हुआ युद्ध भारत जितकर बांग्‍लादेश का अस्तित्‍व में लाया था। और सन 1971 में ही हुऐ युद्ध के 13 वें दिन 04:21 मिनट पर युद्धविराम पर हस्‍ताक्षर कर दिऐ गऐ थे। अर्थात युद्ध काे समाप्‍त कर दिया गया था। इस युद्ध में शहीद हुऐ भारत के वो सभी बहादुर सैनिको की शौर्य गाथा को याद रखने के लिए प्रतिवर्ष विजय दिवस मनाया जाता है। इस दिन उन सभी शहीद हुऐ देशवाशियो को श्रद्धाजंलि अर्पित की जाती है। और यदि आप विजय दिवस के बारे में विस्‍तार से जानना चाहते है तो पोस्‍ट के अतं तक बने रहे।

विजय दिवस इतिहास (Vijay Diwas in Hindi)

Vijay diwas 2021
Vijay Diwas 2021 in Hindi

जब पूर्वी पाकिस्‍तान स्‍वतंत्र हुआ था तो उस स्‍वतंत्रता संग्राम के दौरान अर्थात 03 दिसबंर 1971 में भारत व पाकिस्‍तान की सेनाओ के बीच भीषण युद्ध छिड़ गया था। जिसके पूरे 13 दिनों बाद अर्थात 16 दिसबंर 1971 में पाकिस्‍तान की सेना ने बिना किसी शर्त के आत्‍मसमर्पण कर दिया था। उस समय पाकिस्‍तानी सेना के मेजर जनरल अमीर अब्‍दुल्‍ला खांन नियाजी ने भारत की सेना तथा बाग्‍लादेश की सेना के सामने आत्‍मसमर्पण करके इस युद्ध को यही रोक दिया था।

Advertisement

जाचं के मुताबित इस युद्ध में पाकिस्‍तान के कुल 93000 सैनिको ने आत्‍मसमर्पण किया था। तथा ढाका में रमना रेस कोर्स में पाकिस्‍तान के पूर्वी कमान के कमाण्‍डर ने समर्पण की संधि पर अपने हस्‍ताक्षर करके युद्ध को विराम दिया था। और स्‍वीकार किया था की यह युद्ध द्वितीय विश्‍व युद्ध के बाद सबसे बड़ा सै‍न्‍य समर्पण है।

रिपोर्ट के अनुसार इस युद्ध में पाकिस्‍तान की सेना लगभग 8000 शहीद हुऐ थे तथा 25000 से ज्‍यादा घायल हुऐ थे। और बात करे भारत देश की तो इसने अपने लगभग 3000 हजार सैनिक खोऐ थे। ज‍बकी कई हजार घायल हुए थे।

विजय दिवस क्‍यो मनाया जाता है।

आपको बात दे दोस्‍तो सन 1971 में हुए भारत पाक युद्ध में जो सैनिक शहीद हुए है अर्थात मौत के घाट ऊतर गए है। बस उन्‍ही की याद में भारत देश प्रतिवर्ष 16 दिसबंर को विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है। उस समय देश की प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गॉधी जी थी। जितने भी भारतीय सैनिक शहीद हुए है उनकी याद में भारत सरकार ने एक स्‍मारक बनवाया है और वहा पर प्रतिवर्ष 16 दिसबंर को सभी शहीद जवानों को श्रद्धाजंलि अर्पित की जाती है।

यह श्रद्धाजंलि देश के प्रधानमंत्री व राष्‍ट्रपति तथा अन्‍य सभी नेताओ के द्वारा दी जाती है। आपको बता दे दोस्‍तो 1971 के बाद भारत व पाकिस्‍तान के बीच में पुन: युद्ध हुआ था। इस युद्ध का नाम कारगिल था। यह युद्ध सन 1999 में हुआ था कारगिन का युद्ध होने का कारण जम्‍मू कश्‍मीर के कारगिल नामक इलाके की रेखा के पास पाकिस्‍तानी सैनिक आतंकवादियों से घुसपैठ किया था। जिस कारण यह युद्ध छिड़ गया और लगातार 02 महीनो तक यहा युद्ध चलता रहा।

विजय दिवस 2021
विजय दिवस 2021

विजय दिवस 2021

कारगिल युद्ध के समय देश के प्राधानंमत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी थे। पाकिस्‍ताना के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ व अटल बिहारी जी ने मिलकर 21 फरवरी 1999 में लाहौर में कारगिल युद्ध की विराम संधि पर हस्‍ताक्षर किया था। जिसके बाद यह युद्ध सामाप्‍त हो गया था।

Advertisement
Advertisement

Vijay Diwas (विजय दिवस)

इस वर्ष विजय दिवस की 50 वीं वर्षगांठ है जो देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी जी के द्वारा शहीद जवानो को श्रद्धाजंली दी जाएगी। प्रधानमंत्री जी ने राष्‍ट्रीय स्‍मारक दिल्‍ली में स्थित अनन्‍त ज्‍वाला से स्‍वर्णिम विजय मशाल को जलाया है। तथा चार मशालें और जलाई है जिनको अलग-अलग दिशाओं का प्रतीक माना जाता है। इन चार मशालों का नाम सियाचिन, कन्‍याकुमारी, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, कच्‍छ का रण, अगरतला आदि क्षेत्र शामिल होते है।

दोस्‍तो आज के इस लेख में हमने आपको विजय दिवस के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि लेख में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो लाईक करे वह अपने मिलने वालो के पास शेयर करे। और यदि आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्‍न है तो कमंट करके जरूर पूछे। धन्‍यवाद

यह भी पढ़े-

You may also like our Facebook Page & join our Telegram Channel for upcoming more updates realted to Sarkari Jobs, Tech & Tips, Money Making Tips & Biographies.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *