What is Lohri Festival ! लोहड़ी कब आती है लोहड़ी का त्‍यौहार क्‍यो मनाया जाता है जानिए महत्‍व व कथा

What is Lohri Festival ! लोहड़ी कब आती है लोहड़ी का त्‍यौहार क्‍यो मनाया जाता है जानिए महत्‍व व कथा | Lohri Festival in Hindi | लोहड़ी त्‍यौहार | Lohri Festival | लोहड़ी कब है

दोस्‍तो जल्दि ही लोहड़ी का त्‍यौहार आने वाला है औप सभी इसका बेसबरी से इंतजार कर रहे है क्‍योंकि आपको इस पर्व पर अच्‍छे-अच्‍छे व्‍यंजन खाने को मिलेगे। जी हा लोहड़ी पंजाबियों का एक प्रसिद्ध त्‍यौहार है जो प्रतिवर्ष 13/14 जनवरी को बड़ी ही धूम धाम से मनाया जाता है। खास रूप से भारत के उत्तरी क्षेत्र में इस त्‍यौहार को मनाया जाता है। पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार पंजाबी समुदाय के लोग अपनी अच्‍छी फसल होने की खुशी में इस त्‍यौहार का जश्‍न मनाते है। ऐसे में आप लोहड़़ी पर्व से जुड़ी सभी जानकारी विस्‍तार से जानना चाहते है तो हमारे साथ अंत तक बने रहे।

लोहड़ी

लोहड़ी का महत्‍व क्‍या है (Lohri Festival in Hindi)

हमारे भारतवर्ष में व्रत व त्‍यौहार मनाने के पीछे जरूरी कोई वजह रहती है अब आप लोहड़ी पर्व को देखिए कहा जाता है की प्रकृति में होने वाले परिवर्तन की खुशी को लेकर इस त्‍यौहार को मनाया जाता है। मान्‍यताओं के अनुसर इस दिन वर्ष की सबसे बड़ी रात होती है जिसे बाद दिन बड़े और राते छोटी होने लग जाती है। वही मान्‍यताओं के अनुसार किसान वर्ग के सभी लोगे अपनी फसल अच्‍छी होने पर अर्थात इन दिनों किसनों के खेती में हरी-भरी लहराती हुई फसल दिखाई देती है। जिससे यह अनुमान लगाया जाता है इस वर्ष खेती में पैदावार अच्‍छी होगी। और उसी खुशी में पंजाबी लोग एक साथ मिलकर लोहड़ी का त्‍यौहार मनाते है। औरते गीतो का गान करती है।

लोहड़़ी कब है (Lohri Festival Date)

हिन्‍दी पंचाग के अनुसार लोहड़ी का त्‍यौहार प्रतिवर्ष पौष के महीने में आता है। त‍‍‍था अग्रेंजी कैलेंडर के अनुसार लोहड़ी का त्‍यौहार 14 जनवरी 2024 रविवार को मनाया जाता है

लोहरी का पूजा का शुभ मुहूर्त Lohri Puja Shubh Muhurat

  • प्रदोष काल में लोहरी पूजा का समय:- शाम 05:34 मिनट से लेकर रात्रि 08:12 मिनट तक
  • मुहूर्त का पूरा समय:- 2 घंटे और 38 मिनट का
  • संक्राति क्षण:- शाम 07:55 मिनट

लोहड़ी का पर्व कहा-कहा मनाया जाता है

What is Lohri Festival

वैसे तो लोहड़ी का पर्व मुख्‍य रूप से पंजाब व हरियाणा राज्‍य के लोग ही मनाते है किन्‍तु इनके अलावा भारत के अन्‍य राज्‍यों में भी मनाया जाता है जो है अरूणाचल प्रदेश, तमिलनाड़, दिल्‍ली आदि राज्‍यों में भी लोहड़ी त्‍यौहार को मनाया जाता है। भारत के अलावा लोहड़ी का त्‍यौहार पाकिस्‍तान देश के कई क्षेत्रों में मनाया जाता है। लाहौर, मुल्‍तान आदि शहरों में मनाया जाता है

लोहड़ी कैसी मनाते है (Lohri in Hindi)

इस त्‍यौहार वाले दिन शाम के समय सभी लोग एक-दूसरे मिलकर अग्नि का घेरा जलाते है और उसके चारो तरफ बैठ जाते है। अग्नि के चारों और नृत्‍य-गान करते है कई प्रकार की क्रीड़ा भी करते है। इस दिन तिल व गुड़ से बनी हुई मिठाई व पकवान बनाते है जैसे-गुडपपड़ी, तिलपपड़ी, आदि का भोग लगाकर प्रसाद वितरण करते है। इसके अलावा सरसों दा साग व मक्‍के दी रोटी भी बनाते है और बड़े ही उत्‍साह से एक-दूसरे के साथ मिलकर खाते है।

इस त्‍यौहार के कई दिन पहले से ही लडकिया मिलकर गीत गान करती है तथा लोहड़ी वाले दिन नृत्‍य करती है तथा इस शुभ अवसर पर ढोल बजाए जाते है क्‍योंकि ढोल पजाबियों की शान है

लोहरी क्‍यो मनाई जाती है

यह प्रमुख त्‍यौहार बसंत ऋतु के आगमन के स्‍वागत के लिए और कडाके की ठंड से बचने के साथ भाईचारे की सांझ का मेल-मिलाप बना रहे। उसके लिए लोहडी का त्‍यौहार बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है इस दिन सभी लोग मिलकर एक-दूसरे के साथपहले आग जलाते है और उसके चारो ओर घूमकर लोहड़ी का त्‍यौहार मनाते है

डिस्‍कलेमर:– दोस्‍तो आज के इस लेख में हमने आपको पंजाबियों का त्‍यौहार लोहड़ी What is Lohri Festival के बारें में बताया है। जो आपको पौराणिक मान्‍यताओं, कथाओं, न्‍यूज व पंचांग के मुताबित लिखकर बताई है। आपको बताना जरूरी है Onlineseekhe.com किसी प्रकार की पुष्टि नहीं करेगा अधिक जानकारी के लिए किसी विशेषज्ञ, पंडित, विद्धानके पास जाएगा। यदि आपको लेख में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो लाईक करे व अपने मिलने वालो के पास शेयर करे। और यदि आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्‍न है तो कमंट करके जरूर पूछे। धन्‍यवाद

यह भी पढ़े-

You may also like our Facebook Page & join our Telegram Channel for upcoming more updates realted to Sarkari Jobs, Tech & Tips, Money Making Tips & Biographies.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top