Advertisement

World Environment Protection Day 2021 | विश्‍व पर्यावरण संरक्षण दिवस के बारे में विस्‍तार से जाने

Advertisement

World Environment Protection Day in Hindi दोस्‍तो विश्‍वभर में लोगो को जागरूक करने के लिए विश्‍व पर्यावरण संरक्षण दिवस मनाया जाता है। जो की प्रतिवर्ष 26 नवबंर को लगभग पूरे विश्‍व में मनाया जाता है। इस वर्ष पर्यावरण संरक्षण दिवस 26 नवबंर 2021 शुक्रवार के दिन पड़ रहा है। यह दिवस संयुक्‍त राष्‍ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) के द्वारा प्रतिवर्ष आयोतिज किया जाता है। जिसमें प्रतिवर्ष अलग-अलग थीम रखी जाती है। यदि आप विश्‍व पर्यावरण संरक्षण दिवस के बारे में विस्‍तार से जानना चाहते है तो पोस्‍ट के अतं तक बने रहे।

विश्‍व पर्यावरण संरक्षण दिवस 2021 (World Environment Protection Day)

हर वर्ष हमारे पर्यावरण में संतुलन को बनाए रखने के लिए तथा पर्यावरण के प्रति लोगो को जागरूक करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है। जो यूएनईपी द्वारा आयोजित किया जाता है। आपको बता दे पिछले कई वर्षो से देखने को मिल रहा है की पर्यावरण दूषित हो रहा है जिसके कारण अनेक प्रकार की बीमारीया फैल रही है। इस सभी बातो को देखते हुऐ कारीब दस वैश्विक स्‍तर पर पर्यावरण की समस्‍या इतनी बड़ी बन चुकी है।

Advertisement

इसे प्रति लोगो को जागरूक करने के लिए करीब सौ के आस-पास क्षेत्रीय व द्विपक्षीय समझौते हुए। और रिओ डी जेनेरियो में हुए पृथ्‍वी सम्‍मेलन में इस बात को प्रस्‍तुत किया, और सन 1992 में हुऐ रिओ डी जेनेरियों सम्‍मेलन के दौरान संयुक्‍त राष्‍ट्र पर्यावरण विकस कार्यक्रम को शुरू किया। जिसके बाद यह पूरे देशो में लागू किया गया की प्रतिवर्ष 26 नवबंर को पर्यावरण दिवस के बारे में बताया जाऐगा।

विश्‍व पर्यावरण संरक्षण दिवस (Day of Environment Protection)

आज के दौर में ऐसे बहुत प्राकृतिक संसाधनो के कारण पर्यावरण बहुत अधिक दूषित होता जा रहा है। चारो और जहरीली हवा चलती है जिसके कारण अनेक प्रकार की बीमारीया हो रही है जिससे लोग मर रहे है। यह सब देखते हुए सन 1910 में यूरोप, अमेरिका, अफ्रीका व कई अन्‍य देशो ने मिलकर एक समझाैता किया। जिसके बाद कई समझौते हुऐ जैसे क्‍योटो प्रोटोकाल, मांट्रियल प्रोटोकाल और रिओ सम्‍मेलन बहुराष्‍ट्रीय आपसी समझौते हुऐ।

बात करे भारत देश की तो इस समय भारत का सबसे दूषित शहर दिल्‍ली को माना जाता है क्‍योकि वहा पर इतनी बंडी जनंसख्‍या होने के कारण प्रदूषण फैल रहा है तथा आस-पास के क्षेत्रो में कई प्रकार के कारखाने, कंपनी व फैक्‍ट्री होने के कारण वहा से जो धुआ निकला है। वह एक जहरीली हवा में परिर्वतन हो जाता है। जिसके कारण लोगो में टीवी, कैंसर, चमड़ी रोग इत्‍यादि हो जाते है।

आपको बता दे प्रोटोकाल का उदेश्‍य सभी विकसित राष्‍ट्रो में वर्ष 2012 तक 1990 की ग्रीन हाउस गैसों के सतर से 05 प्रतिशत कम करने का स्‍तर निर्धारित किया था। और ससी प्रकार मांट्रियल प्रोटोकाल में ओजोन परत जिन-जिन पदार्थो से नष्‍ट हो रही है। उन सभी पर प्रतिबंध (रोक) लगाना ही बेहत होगा। क्‍योकि कारखनो व फैक्‍ट्रीयो से निकलने वाला धुंआ केवल वातावरण ही दूशित नही कर रहा है बल्‍क‍ि जो ओजोन परत है

उसे धीरे-धीरे नष्‍ट कर रहा है। ओजोन परत पृथ्‍वी के ऊपर एक ऐसी लेयर अर्थात परत है जो सूर्य से निकलने वाली पराबैंगनी किरणों को धरती पर आने से रोकती है। ताकी पृथ्‍वी पर जीवन बना रहे। किन्‍तु पर्यावरण में बढ़ रहे प्रदूषण के कारण ओजोन परत में छेद हो रहा है। जिसके कारण सूर्य कि किरणे पृथ्‍वी पर पहुच रही है और अनेक प्रकार की बिमारीया उत्‍पन्‍न कर री है।

वैज्ञानिको की एक रिचर्स के अनुसार बताया गया है की अर्ण्‍टाटिका महादीप के ऊपर ओजोन परत में छोटा सा छेद हो गया है। और वहा पर जिसके कारण सूर्य से आने वाली अल्‍ट्रासाउड़ सीधे वहा की जमीन पर आ रही है। और वहा का वातावरण और भी ज्‍यादा दूषित हो रहा है।

Advertisement

प्रदूषण कई प्रकार से फैलता है

  • जल प्रदूषण
  • वायु प्रदूषण
  • ध्‍वनि प्रदूषण
  • थल प्रदूषण

वातावरण में प्रदूषण फैलाने के कारण

  • करखानो, फैक्‍ट्री से निकलने वाला धुंआ
  • नदी व समुद्र में गंदगी फैलाना
  • घरो की गंदगी को खुले में फैकना आदि

प्रदूषण को रोकने के उपाय

  • बढ़ते धूम्रपान से वायु पर्यावरण व वायु प्रदूषण फैलता है तो जितना ज्‍यादा हो सके धूम्रपान ना करे।
  • सभी प्रकार के वाहनो से निकने वाली धुआ को रोकना है।
  • समय-समय पर प्रदूषण की जांच करवाऐ
  • कारखानो का शहर से दूर स्‍थापित करे
  • ज्‍यादा से ज्‍यादा पेड़ लगाऐ
  • कूड़े-कचरे को डब्‍बे में ही डाले,
  • नालियो का साफ रखे तथा जनसंख्‍या पर नियंत्रण करे।

दोस्‍तो आज के इस लेख मे हमने आपको विश्‍व पर्यावरण संरक्षण दिवस World Environment Protection Day in Hindi के बारे में विस्‍तार से बताया है। यदि आपको हमारे द्वारा बताई हुई जानकारी पंसद आई हो तो लाईक करे व अपने मिलने वालो के पास शेयर करे। और यदि आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्‍न है तो कमंट करके जरूर पूछे। धन्‍यवाद

Leave a Comment