Advertisement

World Pneumonia Day 2021 in Hindi | विश्‍व निमोनिया दिवस के बारे में विस्‍तार से पढ़े

Advertisement

विश्‍व निमोनिया दिवस प्रतिवर्ष 12 नवबंर को निमोनिया जैसी घातक बीमारे से जागरूक करने के लिए लगभग पूरे विश्‍व में मनाया जाता है। जो की इस वर्ष 12 नवबंर 2021 शुक्रवार के दिन पड़ रहा है। निमोनिया एक प्रकार का संक्रमण (इन्‍फेक्‍श) है जो की हमारे शरीर के फेफड़ो में जम जाता है। जिसके कारण खासी, बुखार, जुकाम आदि हो जाता है। यदि यह इन्‍फेक्‍श ज्‍यादा बढ़ जाता है तो व्‍यक्‍ति की मृत्‍यु भी हो जाती है। ऐसे में यदि आप निमोनिया जैसी घातक बीमारे के बारे में विस्‍तार से जानना चाहते है तो पोस्‍ट के अंत तक बने रहे।

World Pneumonia Day 2021 (विश्‍व निमोनिया दिवस)

वैसे तो आप सभी इस बीमारी के बारे में जानते होगे क्‍योकि यह बीमारी लगभग सभी के बच्‍चों में होती रहती है। व्‍यक्‍ति के फेफड़ो में होने वाले इन्‍फेक्‍शन को ही निमोनिया कहा जाता है। जिसकी शुरूआत ठंड, खासी, बुखार से होती है। ज्‍यादातर इस बीमारी का प्रभाव छोटे बच्‍चों पर होता है। क्‍योकि शिशुओ के फेफड़े इतने कमजोर होते है की उनको तुरन्‍त सर्दी, खासी, जुकाम हो जाता है।

Advertisement

और ये सभी एक साथ होने के बाद निमोनिया का रूप ले लेते है। युवा लोगो पर यह इतना प्रभाव नही करता किन्‍तु ध्‍यान रहे बुजर्गो पर यह बीमारी बहुत घातक होती है। जिसके चलते कई बार मृत्‍यु का सामना करना पड़ जाता है। तो दोस्‍तो इस बीमारी से बचने के लिए आज के समय में विश्‍व निमोनिया दिवस मनाया जाता है।

ताकी देश के ही नही बल्‍कि विश्‍व के लोग भी इसके प्रति जागरूक रहे। थोड़ी सी खासी, बुखार, जुखाम होने पर तुरंत किसी नजदिकी हॉस्पिटल में दिखवाऐ। नही तो किसी भी स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र पर किसी डॉक्‍टर को दिखाऐ और इसका इलाज करवाइऐ। ताकी आप इस बीमारी को जड़ से मिटा सको।

निमोनिया दिवस के बारे में जाने

दोस्‍तो निमोनिया एक प्रकार का संक्रमण है जो खासने व छींकने से भी एक फैलता है। अर्थात एक व्‍यक्ति से दूसरे व्‍यक्ति को हो जाता है। तो आपको छीकते समय अपने मुह पर हाथ लगाकर छीकना चाहिए। तथा खासते वक्‍त भी अपने हाथ लगाकर खासना चाहिए।

खास तौर यह यह रोग नवजात यानी 5 वर्ष से कम उम्र की आयु के बच्‍चों व 65 से अधिक आयु के बुजर्गो में ज्‍यादा असर करता है। क्‍योकि इन उम्र में आदमी की इम्‍यूनटी पावर बहुत कमजोर होती है। जिसके कारण इसका जल्‍दी प्रभाव हो जाता है। कई बार व्‍यक्ति को उसके दोनो फेफड़ो में निमोनिया जैसी बीमारी हो जाती है जिसे आम भाषा में डबल निमोनिया कहा जाता है।

यह एक गंभीर बीमारी है जिसका समय पर ईलाज नही करवाया जो यह जानलेवा भी हो सकती है। हमारे देश में ऐसे बहुत से केश आते है जिनकी मृत्‍यु निमोनिया जैसी घातक बीमारी से हो जाती है। यह बीमारी ज्‍यादातर सर्दीयो के दिनो में होती है। यदि आपको कोई भी लक्षण इस बीमारी से दिखाई दे तो तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करे।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की जिन लोगो को फ्लू (इन्‍फ्लूएंजा वायरस) जाे की संक्रमण है, स्‍ट्रेप्‍टोकोकल बैक्‍टीरियल सक्रंमण, रेस्पिरेटरी सिंकिटियल वायरस या फिर कोई अन्‍य संक्रमण है तो उस व्‍यक्ति को डबल निमोनिया होना के बड़े चान्‍श है। और इस स्थित में वह मर भी सकता है।

Advertisement

निमोनिया के लक्षण ( World Pneumonia Day in Hindi)

  • लगातार खासी होना
  • सांस में तकलीप होना
  • बुखार होना
  • सीने में दर्द
  • ठंड लगना
  • सिर दर्द
  • थकान
  • मासपेशियों में तनाव होना
  • शरीर में हिम्‍मत नही रहतना आदि

निमोनिया से बचने के घरेलू उपाय

  • हरी सब्जिया खाना
  • फलो का जूस पीना
  • अंडा खाना
  • लहसुन का सेवन करना
  • हल्‍दी को ज्‍यादा मात्रा में लेना
  • दूध व अदरक का सेवन करना आदि

दोस्‍तो आज के इस लेख में हमने आकपो विश्‍व निमोनिया दिवस के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आपको हमारे द्वारा प्रदान की गई जानकारी पसंद आई हो तो लाईक करे व अपने मिलने वालो के पास शेयर करे। और यदि आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्‍न है तो कमंट करके जरूर पूछे। धन्‍यवाद

य‍ह भी पढे-

Leave a Comment